Jhunjhunu Update
झुंझुनूं का नं. 1 न्यूज़ नेटवर्क

सीएम भजनलाल शर्मा का आक्रामक अंदाज, राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा पर बोले-देश को तोड़ने का काम राहुल के खानदान ने ही किया

नवलगढ़ के पोदार पैवेलियन में हुई सीएम की धन्यवाद यात्रा

- Advertisement -

0 13

नवलगढ़। मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा ने शनिवार को झुंझुनूं के नवलगढ़ में यमुना पानी समझौते को लेकर आयोजित धन्यवाद सभा को संबोधित किया। इस सभा में भजनलाल शर्मा पूरे आक्रामक अंदाज में नजर आए। जिन्होंने ना केवल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को गारंटी पूरी करने वाला एकमात्र नेता बताया। बल्कि वाजपेयी के कार्यकाल में हुए कार्यों को भी बताते हुए राहुल गांधी से लेकर अशोक गहलोत तक पर निशाने साधे। उन्होंने कहा कि इंदिरा गांधी ने गरीबी के नाम पर वोट मांगे, राजीव गांधी ने गरीबी के नाम पर वोट मांगे, सोनिया गांधी ने गरीबी के नाम पर वोट मांगे, बीच में दो और प्रधानमंत्री आए, जिन्होंने भी गरीबी के नाम पर वोट मांगे और अब राहुल गांधी भी गरीबी के नाम पर वोट मांगे। कांग्रेस ने सालों तक देश पर गरीबी के नाम पर वोट मांगकर राज किया। लेकिन कभी गरीब के लिए काम नहीं किया।

उन्होंने कहा कि जब राजस्थान महिला अत्याचार, महिला दुष्कर्म, दलित अत्याचार में नंबर वन था। तब राहुल गांधी ना तो राजस्थान आए और ना ही न्याय यात्रा निकाली। राहुल गांधी अब भारत जोड़ो यात्रा निकाल रहे है। जबक देश को सबसे ज्यादा तोड़ने का काम राहुल गांधी और उनके खानदान ने किया। उन्होंने कहा कि चुनाव आ गए। तब कांग्रेस लूट और झूठ का सहारा ले रही है। अशोक गहलोत की खुद की कोई गारंटी नहीं थी। फिर भी चुनावों से दो महीने पहले वो गारंटी दे रहे थे। राजस्थान की जनता ने उनकी गारंटी नहीं ली और भाजपा की सरकार बनाई। उन्होंने यमुना पानी को लेकर कहा कि शेखावाटी के तीनों जिलों को पानी मिलेगा। पीने का पानी और सिंचाई का पानी दोनों मिलेंगे। राजस्थान अपने हिस्से का 1917 क्यूसेक पानी पूरा लेगा। इसमें कहीं कोई शंका नहीं है।

सभा को संबोधित करते हुए अपने 30 मिनट के भाषण में प्रदेश व केंद्र सरकार की योजनाओं व उपलब्धियों को जनता के बीच रखने का प्रयास किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि राजस्थान में भाजपा की सरकार बनते ही हमने 2 महीने में हरियाणा सरकार के साथ यमुना जल समझौते पर एमओयू पर हस्ताक्षर करके शेखावाटी के जिलों की प्यास बुझाने की ओर ठोस कदम बढ़ाया है। साथ ही मध्य प्रदेश की सरकार से भी ईआरसीपी पर समझौता कर प्रदेश के 13 जिलों के लिए पेयजल व सिंचाई के लिए का पानी लाने के लिए काम शुरू किया है। साथ ही मुख्यमंत्री ने झुंझुनूं जिले से देश की सेना में सर्वाधिक सैनिक होने, अपनी सरकार गठित होते ही पेपर लीक मामले में एसआईटी गठित करने, उज्वला योजना में गैस सिलेंडर की कीमत 450 रुपए करने, गेहूं की एमएसपी 2275 से 2400 रुपए करने, खनन माफिया व भू माफिया पर सख्त कार्यवाही करने, किसान सम्मान निधि 6 हजार से बढ़ाकर 8 हजार करने, सामाजिक सुरक्षा पेंशन बढ़ाने सहित अन्य योजनाओं का भी जिक्र किया। साथ ही भारत रत्न चौधरी चरणसिंह द्वारा किसानों के हित में किए गए कार्यों का भी जिक्र किया।

यह भी रहे मंच पर
शनिवार को नवलगढ़ में आयोजित यमुना जल धन्यवाद सभा में मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा के साथ जल संसाधन मंत्री सुरेश रावत, नवलगढ़ विधायक विक्रमसिंह जाखल, भाजपा जिला प्रभारी केडी बाबर, पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष मुकेश दाधीच, प्रदेश प्रवक्ता लक्ष्मीकांत भारद्वाज, जिलाध्यक्ष पवन मावंडिया, पूर्व विधायक शुभकरण चौधरी, नवलगढ़ के पूर्व चेयरमैन व सैनी समाज संस्था अध्यक्ष सुरेंद्र फूलवाला, जिला मंत्री महेंद्र चंदवा, उदयपुरवाटी प्रधान माया गुर्जर, बगड़ पालिका चेयरमैन गोविंदसिंह राठौड़ आदि मंचस्थ रहे।

मुख्यमंत्री का 51 किलो के पुष्पाहार व बाबा रामदेव की तस्वीर भेंट कर किया स्वागत
मंच पर पहुंचे मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा का विधायक विक्रमसिंह जाखल के नेतृत्व में मंचस्थ अतिथियों व मनोहरसिंह जाखल, सरपंच फोरम अध्यक्ष भंवरसिंह धींवा सहित अनेक कार्यकर्ताओं ने 51 किलो के पुष्पाहार व लोक देवता बाबा रामदेव की तस्वीर भेंट करके स्वागत किया।

विधायक विक्रमसिंह जाखल ने सीएम के सामने रखी बदराणा जोहड़ की मांग
मुख्यमंत्री के स्वागत के बाद नवलगढ़ विधायक विक्रमसिंह जाखल ने स्वागत भाषण दिया। अपने 10 मिनट के भाषण के शुरू में विधायक विक्रमसिंह ने यमुना जल समझौता लागू करवाने के लिए मुख्यमंत्री को शेखावाटी भागीरथ बताकर आभार व्यक्त किया। साथ ही कहा कि मुख्यमंत्री जब भी दिल्ली जाते हैं तो राजस्थान के लिए हर बार नई सौगात लेकर आते हैं। इसके बाद भाषण में विक्रमसिंह ने कहा कि विधानसभा चुनाव में नवलगढ़ में सबसे बड़ा मुद्दा बदराणा जोहड़ का था। इसलिए मैं मुख्यमंत्री से विनती करता हूं कि नवलगढ़ के बदराणा जोहड़ को अनाधिकृत कब्जे व तारबंदी से मुक्त करवाकर फिर से पीढिय़ों पुराना प्रसिद्ध पशु मेला नियमित रूप से शुरू करवाने की मांग को अति शीघ्र पूरा करें। साथ ही विधायक ने क्षेत्र में लग रही सीमेंट फैक्ट्रियों में क्षेत्र के लोगों को ही रोजगार दिलवाने तथा सीमेंट फैक्ट्रियों के अधिग्रहण क्षेत्र व फैक्ट्रियों के लिए प्रस्तावित रेल लाइन से प्रभावित किसानों को अधिकतम मुआवजा दिलवाने की भी मांग मुख्यमंत्री के सामने रखी। कार्यक्रम संचालन एडीईओ उम्मेदसिंह महला व विजय हिन्द ने किया।

मुख्यमंत्री 3 घंटे 9 मिनट देरी से पहुंचे नवलगढ़

नवलगढ़ के पोदार पैवलियन में हुई सभा में मौजूद भीड़।

मुख्यमंत्री का शनिवार को नवलगढ़ पहुंचने का निर्धारित समय दोपहर 12 बजे का था। लेकिन वह 3 बजकर 9 मिनट पर नवलगढ़ में मोरारका स्टेडियम हेलिपैड पर उतरे। 3.09 बजे से 3.29 बजे तक का समय हेलिपैड पर स्वागत सत्कार व वहीं पर मुख्यमंत्री के नाश्ते में बीता। हेलिपैड पर पहुंचते ही पंसस बदराणा जोहड़ बचाओ संघर्ष समिति के प्रताप पूनियां के नेतृत्व में बदराणा जोहड़ को तारबंदी से मुक्त करवाने व अनाधिकृत कब्जा हटवाकर सार्वजनिक उपयोग, पशु मेला के लिए खुला रखवाने की मांग को लेकर ज्ञापन सौंपा गया। 3 बजकर 32 मिनट पर मुख्यमंत्री पोदार पेवेलियन स्थित सभा स्थल के मंच पर पहुंचे। 3.58 बजे भारत माता की जय, बाबा रामदेव की जय, गोपीनाथजी की, कल्याणजी की, गंगामाई की व लक्ष्मीजी की जय बोलते हुए भाषण शुरू किया। 4.28 बजे मुख्यमंत्री का 30 मिनट का भाषण पूरा हुआ। इसके बाद तुरंत हेलिपैड के लिए रवाना हुए। हेलिपैड पर किसान नेता सुभाष बुगालिया के नेतृत्व में मुख्यमंत्री को किसानों ने विभिन्न मांगों को लेकर ज्ञापन सौंपा। इसके बाद 4.43 बजे मुख्यमंत्री का हेलिकॉप्टर श्रीमाधोपुर की सभा के लिए रवाना हुआ।

हेलिपैड पर किया मुख्यमंत्री का स्वागत
शनिवार को नवलगढ़ पहुंचे मुख्यमंत्री का हेलिपैड पर विधायक विक्रमसिंह जाखल, जिला कलेक्टर चिन्मयी गोपाल सहित झुंझुनूं व सीकर के पुलिस अधीक्षक राजर्षि राज वर्मा व स्थानीय भाजपा नेताओं ने स्वागत किया। इस अवसर पर ओमेन्द्र चारण, भवानी शंकर शर्मा, पूर्व चेयरमैन रिछपाल सिंगोदिया, पूर्व प्रधान गजाधर ढाका, एमडी शान बान, मुकुन्दगढ चेयरमैन मनीष चैधरी, सरपंच प्रतिनिधि मोहर सिंह दूत, सरपंच जगमोहन सिंह शेखावत, सरपंच हरफूलसिंह पूनियां, आनन्द बुगालिया, सुनिल साम्भरा, पंचायत समिति सदस्य सुभाष लाम्बा, सरपंच अर्जुन वाल्मिकी, सरपंच प्रतिनिधि प्रमोद सैनी, सरपंच महावीर भाम्बू, सरपंच प्रतिनिधि मदनल सिंह शेखावत, पार्षद हितेश थोरी, पार्षद जयंति बील, कमलदास महाराज, सरपंच प्रतिनिधि राहुल सोटवारा, सरपंच प्रतिनिधि महेश पारीक, नेकीराम पूनिया मौजूद रहे।