Jhunjhunu Update
झुंझुनूं का नं. 1 न्यूज़ नेटवर्क

जानिए, होली दहन का सर्वश्रेष्ठ मुहूर्त : भद्राकाल के बाद रात 11:17 बजे के बाद अमृत योग में होगा होलिका दहन

झुंझुनूं में तिवाड़ियों की होली का दहन सूर्य की साक्षी में शाम 6 बजे होगा

- Advertisement -

0 41

झुंझुनूं । होलिका दहन रविवार को देर रात होगा। होली दहन का सर्वश्रेष्ठ मुहूर्त रात 11:17 बजे से 12:30 बजे तक का है। रविवार को सुबह तक चतुर्दशी तिथि रहेगी, लेकिन सुबह 9:54 बजे पूर्णिमा तिथि शुरू हो जाएगी। जो सोमवार को दोपहर 12:29 बजे तक रहेगी। इस बार होली पर सुबह 9:57 बजे से रात 11:17 बजे तक भद्रा काल रहेगा। इसके बाद अमृत काल में देर रात 11:17 बजे के बाद शुभ मुहूर्त में होलिका दहन होगा।

उधर, छावनी बाजार स्थित तिवाड़ियों की होली का दहन सूर्य की साक्षी में शाम 6 बजे होगा। भद्रा काल के कारण शहर की महिलाएं यहां की हाली की झळ देखकर व्रत खोलेंगी। पंडित रोहित पुजारी ने बताया कि फाल्गुन शुक्ल पूर्णिमा पर रविवार को ही होलिका दहन होगा। करीब 13 घंटे 20 मिनट भद्रा काल के बाद देर रात 11:17 बजे के बाद होलिका दहन किया जाएगा। इस दौरान अमृत का चौघड़िया रहेगा। उन्होंने बताया कि भद्रा काल समाप्ति के बाद होलिका दहन करना धर्म शास्त्रानुसार श्रेष्ठ है। तिवाड़ियों की होली के व्यवस्थापक गणेश तिवाड़ी ने बताया कि यहां सूर्य साक्ष्य में शाम 6 बजे होलिका दहन होगा।

जानिए, क्या है होली का महत्व

फाल्गुन मास की पूर्णिमा तिथि को होलिका दहन किया जाता है। इस दिन लोग होलिका की पूजा और दहन के बाद ही भोजन आदि किया जाता है। धार्मिक दृष्टि से होली का त्योहार काफी महत्व रखता है। इस साल होलिका दहन 24 मार्च यानी आज होगा। वहीं, रंगवाली होली 25 मार्च यानी कल खेली जाएगी. होलिका दहन बुराई पर अच्छाई की जीत के पर्व के रूप में मनाया जाता है। होलिका दहन से आस-पास की नकारात्मक शक्तियों का नाश होता है। होली के दिन शाम को भद्रा पुच्छ काल में 6:34 बजे से 7:54 बजे तक होली का पूजन करना अत्यंत शुभ रहेगा।