Jhunjhunu Update
झुंझुनूं का नं. 1 न्यूज़ नेटवर्क

लोकसभा चुनावों में भी लापरवाही : तीन राज्यों से होकर गुजरा अवैध शराब का ट्रक, ना किसी ने रोका, ना किसी ने टोका

झुंझुनूं आबकारी विभाग ने पकड़ी 60 लाख रूपए कीमत की अवैध शराब

- Advertisement -

0 108

झुंझुनूं. झुंझुनूं के आबकारी विभाग ने एक बड़ी कार्रवाई करते हुए अवैध शराब से भरे कंटेनर को जब्त करते हुए उसके चालक और खलासी को गिरफ्तार किया है। लेकिन सवाल यह है कि लोकसभा चुनावों को लेकर जहां पूरे देश में आचार संहिता लगी हुई है और चुनावों को फ्री एंड फेयर करवाने का दंभ भरने वाले प्रशासन इस एक कंटेनर ने पोल खोल दी है। लुधियाना से चला यह कंटेनर करीब दो दिन में तीन राज्यों के दर्जनों थानों की सीमा से होकर गुजरा। लेकिन बीच रास्ते में ना तो इस कंटेनर को किसी ने रोका और ना ही अवैध शराब ढो रहे चालक—खलासी को किसी ने टोका। जब करीब 427 किलोमीटर की दूरी तय कर कंटेनर झुंझुनूं पहुंचा तो यहां पर इसे रोका और पकड़ भी लियागया। इस कार्रवाई को लेकर झुंझुनूं जिला आबकारी अधिकारी अमरजीत सिंह ने बताया कि मुखबिर के जरिए इत्तला मिली थी कि पंजाब से एक अवैध शराब से भरा कंटेनर हरियाणा से होते हुए झुंझुनूं आएगा। जहां से वह गुजरात जाएगा। जिस पर आबकारी विभाग और आबकारी पुलिस की संयुक्त टीम ने झुंझुनूं शहर के हवाई पट्टी चौराहे पर संयुक्त नाकाबंदी की। आज सुबह करीब छह बजे एक कंटेनर आते हुए दिखाई दिया। जिसे रूकवाकर जांच की गई तो वह पूरा का पूरा अवैध शराब से भरा हुआ मिला। कंटेनर में एक हजार से ज्यादा कार्टुन बीयर और अंग्रेजी शराब के मिले है। जिनकी कीमत करीब 60 लाख रूपए है। विभाग ने कंटेनर और शराब को जब्त कर बाड़मेर के सोडियार पीस निवासी हरिश पुत्र चेतनराम तथा रामदेवरिया निवासी मागाराम पुत्र देदाराम को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों से शराब को लेकर पूछताछ की जा रही है। प्रारंभिक पूछताछ में सामने आया है कि पंजाब में बेचे जाने वाली यह शराब अवैध रूप से गुजरात के राजकोट ले जाई जा रही थी। कार्रवाई में आबकारी डीएसपी लक्ष्मीनारायण सैनी तथा पीओ ताराचंद जाखड़ की टीम भी शामिल रही।

नंबर प्लेट और बिल भी फर्जी
आबकारी पुलिस ने जब कंटेनर रूकवाया तो उसमें सबकुछ फर्जी मिला। कंटेनर में सामान को लेकर किसी को शक ना हो। इसके लिए एक फर्जी सील लगाई गई। लेकिन पुलिस ने सील खोली तो थर्माकोल की सीट लगी हुई थी। इसके बाद जब देखा तो पूरा कंटेनर अवैध शराब के कार्टुनों से भरा हुआ था। जब चालक को इसके बारे में पूछा तो वह जवाब नहीं दे पाया। क्योंकि पहले चालक ने एक फर्जी बिल दिखाया। जो मेडिसीन प्रोडक्ट का था। जिस पर कंटेनर में मेडीसीन प्रोडक्ट होने की जानकारी लिखी थी। वहीं यह माल लुधियाना से राजकोट जाना अंकित था। इसी अंकन के हिसाब से आबकारी पुलिस अंदाजा लगा रही है कि यह अवैध शराब पंजाब से गुजरात जा रही थी। इसके बाद भी जब ट्रक के कागजात पूछे गए तो वो भी नहीं मिले। नंबर प्लेट चैक की गई तो गुजरात नंबरों की प्लेट के नीचे हरियाणा नंबरों की दूसरी प्लेट लगी हुई मिली। फिलहाल पुलिस इस जांच में लगी हुई है कि आखिर असली नंबर प्लेट कौनसी है या फिर दोनों की दोनों ही फर्जी है।

रात को रूके थे भिवानी, सुबह चलकर आए
आबकारी पुलिस को प्रारंभिक पूछताछ में चालक ने बताया कि वे परसों लुधियाना से चले थे। पूरे कंटेनर में सेल्स आनली पंजाब का ठप्पा लगी शराब थी। वे रात को भिवानी में रूके थे। मध्य रात्रि को भिवानी से रवाना होकर वे राजस्थान में घुसे और करीब छह बजे झुंझुनूं पहुंचे। तो यहां पर आबकारी विभाग की टीम ने पकड़ लिया।