Jhunjhunu Update
झुंझुनूं का नं. 1 न्यूज़ नेटवर्क

झुंझुनूं में पुलिस ने पकड़ी डेढ करोड़ रुपए की नगदी, यूपी नंबरों की बस में लाए जा रहे थे पैसे

दिल्ली से लेकर आ रहे थे, चिड़ावा में बस को रुकवाकर जब्त किए रुपए

- Advertisement -

0 60

झुंझुनूं। पुलिस ने अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई करते हुए करीब डेढ करोड़ का कैश जब्त किया है। यह केश कहां से आया, कहां जा रहा था और किस काम से लाया जा रहा था। वो तो अभी जांच का विषय है। लेकिन प्रारंभिक तौर पर पुलिस ने इस राशि को जब्त कर इनकम टैक्स को सौंप दिया है। वहीं पुलिस जांच में यदि यह पैसा हवाले का आता है तो ईडी को भी कार्रवाई के लिए लिखा जाएगा। झुंझुनूं एसपी राजर्षि राज वर्मा ने प्रेस वार्ता में इस कार्रवाई की जानकारी दी। एसपी राजर्षि राज वर्मा ने बताया कि लोकसभा चुनावों के तहत लगातार पुलिस द्वारा निगरानी रखी जा रही है।

इसी दौरान मुखबिर से सूचना मिली थी कि बस में कुछ संदिग्ध युवक भारी मात्रा में कैश लेकर आ रहे है। जिस पर चिड़ावा कस्बे के पिलानी चौराहे पर जिला स्पेशल टीम ने लोकसभा चुनावों के लिए नियुक्त की गई फ्लाईंग स्कवायड के साथ नाकाबंदी के दौरान एक बस रूकवाई और उसमें तलाशी ली तो तीन युवकों के पास चार पीठू बैग मिले। जो पूरी तरह से कैश के भरे हुए थे। इन युवकों को डिटेन कर जब पैसे गिने गए तो यह राशि एक करोड़ 54 लाख 90 हजार 600 रूपए थी। जिसे जब्त किया गया। इसके अलावा इन युवकों के पास तीन चैक मिले है। जो भी चार लाख रूपए के राशि के है। युवकों से पूछताछ की गई तो वे संतोषप्रद जवाब नहीं दे पाए। जिसके कारण इस राशि को जब्त कर इनकम टैक्स को सौंपा गया है। एसपी राजर्षि राज वर्मा ने बताया कि इस मामले में पुलिस जांच की जा रही है।

यदि हवाले के पैसे मिले तो ईडी को इस संदर्भ में कार्रवाई के लिए लिखा जाएगा। जिन युवकों के पास ये राशि मिली है। वे युवक सीकर शहर के बकरा मंडी वार्ड नंबर पांच निवासी 37 वर्षीय मोहम्मद जावेद पुत्र मोहम्मद रमजान, सीकर शहर के वार्ड नंबर 62 अलीमा मस्जिद के पास रहने वाला 32 वर्षीय मोहम्मद आसिफ पुत्र मोहम्मद रफीक तथा झुंझुनूं शहर के वार्ड नंबर नौ कालती हवेली के पास रहने वाला 33 वर्षीय मोहम्मद मंजूर पुत्र मोहम्मद युनूस व्यापारी मुसलमान शामिल है।

दो घंटे लगे गिनने में, दो बार हुई गिनती
एसपी राजर्षि राज वर्मा ने बताया कि इतनी बड़ी रकम मिलने के बाद बैंक से नोट गिनने की मशीन मंगवाई गई। करीब दो घंटे लगे। तब जाकर पुलिस इन पैसों को गिन पाई। इन पैसों में अधिकतर 500—500 नोट की गड्डियां थी। तो वहीं 100—200 के नोट की भी एकाध गड्डी शामिल थी। जानकारी के मुताबिक पुलिस के रूपए गिनने के बाद इन रूपयों की गिनती इनकम टैक्स के अधिकारियों ने भी मशीन लगाकर की।

चुनावों में खपाने के लिए तो नहीं लाई गई नगदी!
इस कार्रवाई के बाद यह चर्चा है कि लोकसभा चुनावों में खपाने के लिए तो यह नगदी हवाले के जरिए पहुंचाई जा रही थी। जिन युवकों के पास पैसा मिला है। वो भी सीकर और झुंझुनूं के रहने वाले है। ऐसे में यह जांच का बड़ा विषय है। पुलिस ने प्रारंभिक पूछताछ और नगदी इनकम टैक्स को सौंपने के बाद युवकों को छोड़ दिया है।

एसपी के निर्देशन में इस टीम ने की कार्रवाई
नगदी जब्ती की इस कार्रवाई को खुद एसपी राजर्षि राज वर्मा लीड कर रहे थे। वहीं एएसपी पुष्पेंद्र सिंह राठौड़, चिड़ावा डीएसपी विकास धींधवाल के सुपरविजन में कार्रवाई करने वाली टीम में चिड़ावा सीआई विनोद सामरिया, फ्लाईंग स्कवायड टीम नंबर दो विधानसभा पिलानी के कार्यपालक मजिस्ट्रेट दिनेश घासोलिया, डीएसटी के एएसआई पवनकुमार, शेरसिंह फोगाट, साइबर सैल के हैड कांस्टेबल दिनेश कुमार, डीएसटी के हैड कांस्टेबल विक्रम सिंह, कांस्टेबल संदीप गांधी, चिड़ावा थाने की एसएसटी टीम के एएसआई प्रहलादसिंह, डीएसटी के कांस्टेबल विक्रम सिंह, सुरेंद्र काजला, योगेंद्र, अमित मोटासरा, दिनेश कुमार, अमित कुमार, योगेंद्र, सुनिल गर्वा, अंकित ओला, एसएसटी टीम के कांस्टेबल कपिल तथा सीओ कार्यालय चिड़ावा एसएसटी टीम की सदस्य महिला कांस्टेबल मंजू शामिल थी।