Jhunjhunu Update
झुंझुनूं का नं. 1 न्यूज़ नेटवर्क

मैं यहां सरकारी नुमाइंदा या नेता बनकर नहीं बल्कि, प्रधानमंत्री मोदी जी के विजन को साकार करने माननीय न्यायालय के आदेश से आया हूं : केके गुप्ता

न्याय मित्र केके गुप्ता एवं जिला कलेक्टर द्वारा ली तीनों निकायों के अधिकारी की वीसी से की मीटिंग

- Advertisement -

0 16

झुंझुनूं। माननीय स्थायी एवं अनवरत लोक अदालत जिला झुंझुनूं द्वारा नगर परिषद झुंझुनूं और नगर पालिका नवलगढ़ तथा मांडव के लिए नियुक्त न्याय मित्र केके गुप्ता के विशेष आतिथ्य में सोमवार को जिला कलेक्टर बचनेश कुमार अग्रवाल द्वारा तीनों निकाय के अधिकारियों वीसी से की मीटिंग की। सर्वप्रथम बैठक को संबोधित करते हुए जिला कलेक्टर अग्रवाल ने कहा कि लगभग 20 वर्ष पहले उन्होंने डूंगरपुर में उपखंड अधिकारी के पद पर सेवाएं दी हैं और उसे दौरान गुप्ता नगर पालिका में उपाध्यक्ष पद का निर्वहन कर रहे थे। उसे समय भी गुप्ता के पास में विकास को लेकर एक दूरदर्शी सोच थी और आज से 20 साल पहले भी गुप्ता द्वारा डूंगरपुर में ऐसे कार्य शुरू किए गए थे। जिसकी कोई कल्पना भी नहीं कर सकता था। वर्तमान में हम सभी डूंगरपुर निकाय के बारे में परिचित हैं कि यह निकाय प्रदेश की पहली निकाय है। जो सबसे पहले ऑडिएफ घोषित हुई थी इसकी अतिरिक्त डूंगरपुर निकाय स्वच्छता और सौंदर्य करण में भी अव्वल आती है। यह ऐतिहासिक कार्य गुप्ता के सभापति कार्यकाल वर्ष 2015 से 2020 तक में हुए हैं। हमारे जिले में भी सभी निकाय द्वारा इस प्रकार के नवाचार अपनाते हुए कार्य किए जाने चाहिए। बैठक में गुप्ता ने बताया कि, वे यहां झुंझुनू जिले के दौरे पर आते रहते हैं तो इसका यह अर्थ नहीं है कि वह सरकार के कोई प्रतिनिधि है अथवा कोई नेता की हैसियत से है, बल्कि उन्हें माननीय न्यायालय द्वारा न्याय मित्र के पद पर मनोनीत किया गया है। जिनका कार्य है कि उक्त तीनों नगर निकाय में स्वच्छ भारत मिशन के तहत सभी घटक पर कार्य पूर्ण करने हैं। इसके अतिरिक्त नगर का सौंदर्य करण और अतिक्रमण मुक्ति के क्षेत्र में भी कार्य करते हुए उचित पर्यवेक्षक करके माननीय न्यायालय को रिपोर्ट प्रस्तुत की जाती है। उनके द्वारा गत रविवार को नगर पालिका क्षेत्र मंडावा का औचक निरीक्षण किया गया। इस दौरान वहां पर भारी और नियमितताएं मिली हैं। इसके साथ ही वहां के जिम्मेदार अधिकारी कुमावत भी निरीक्षण के दौरान अनुपस्थित रहे। मंडावा नगर जो पर्यटन के दृष्टिकोण से विश्व का 20वां नंबर का स्थान रखता है और यहां पर विश्व प्रसिद्ध हवेलियां है। जिन्हें देखने के लिए भारत भर सहित विदेशों से भी पर्यटक आते हैं और ऐसे नगर की स्थिति अधिकारियों की लापरवाही के कारण बदहाल हो चुकी है। नगर परिषद झुंझुनूं में भी इसी प्रकार की व्यवस्थाओं का आलम है। यहां पर नेहरू बाजार क्षेत्र है। जहां अतिक्रमण बहुत हद तक बढ़ चुका है। नगर में जगह-जगह पर सड़क क्षतिग्रस्त है। जानवरों का सड़कों पर घूमने सार्वजनिक शौचालय एवं मूत्रालय का गंदा रहना तथा खुले में कचरे का होना रोड लाइटों का बंद होना और पूर्व के निरीक्षण के दौरान उचित दिशा निर्देश दिए जाने के पश्चात भी अधिकारियों द्वारा इस क्षेत्र में काम नहीं किया गया और मामूली पेचवर्क करते हुए इस पर लीपा पोती की गई है। बैठक में जिला कलेक्टर अग्रवाल द्वारा सभी निकाय के अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिए गए कि न्याय मित्र गुप्ता के सभी निर्देशों और आदेशों की पालना की जाए। इसके साथ ही आगामी 28 दिसंबर को जिला कलेक्टर अग्रवाल द्वारा आज की बैठक की समीक्षा भी की जाएगी।