Jhunjhunu Update
झुंझुनूं का नं. 1 न्यूज़ नेटवर्क

कांग्रेस प्रत्याशी बृजेंद्र ओला ने दाखिल किया नामांकन, आठों विधानसभा से विधायक व प्रत्याशी रहे मौजूद

10 सालों तक केंद्र सरकार ने झुंझुनूं को कुछ नहीं दिया : बृजेंद्र ओला

- Advertisement -

0 1,007

झुंझुनूं । पहले चरण के लोकसभा चुनावों के लिए बुधवार को नामांकन के अंतिम दिन झुंझुनूं से कांग्रेस प्रत्याशी बृजेंद्र ओला ने अपना नामांकन दाखिल किया। बृजेंद्र ओला स्वर्गीय शीशराम ओला के बेटे है। जिन्होंने झुंझुनूं लोकसभा क्षेत्र का लगातार पांच बार प्रतिनिधित्व किया। वहीं बृजेंद्र ओला भी लगातार चौथी बार झुंझुनूं विधानसभा से विधायक है। गहलोत सरकार में वे दो बार मंत्री भी रह चुके है। कांग्रेस ने बुधवार को नामांकन के वक्त अपनी एकजुटता को भी दिखाया। लोकसभा क्षेत्र के आठों विधानसभा क्षेत्रों के विधायक और विधायक प्रत्याशी ओला के नामांकन के समय साथ दिखाई दिए। इनमें सूरजगढ़ विधायक श्रवण कुमार, फतेहपुर विधायक हाकम अली, मंडावा विधायक रीटा चौधरी, उदयपुरवाटी विधायक भगवानाराम सैनी, पिलानी विधायक पितराम काला तथा नवलगढ़ से पूर्व विधायक डॉ. राजकुमार शर्मा तथा खेतड़ी प्रधान व खेतड़ी से कांग्रेस प्रत्याशी रहे मनीषा गुर्जर शामिल थी। इनके अलावा पूर्व मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह तथा कांग्रेस जिलाध्यक्ष दिनेश सुंडा भी नामांकन के वक्त साथ नजर आए। इस मौके पर सभी कांग्रेस नेताओं ने कहा कि वे पूरी दम—खम के साथ कांग्रेस प्रत्याशी बृजेंद्र ओला को जिताएंगे। इस मौके पर नामांकन के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए बृजेंद्र ओला ने कहा कि भाजपा 400 पार का नारा दे रही है। लेकिन जब राजस्थान का परिणाम आएगा। तो भाजपा को दिख जाएगा कि इस बार वे सत्ता से दूर रहेंगे।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने इस बार बड़ा दिल रखते हुए इंडिया ब्लॉक को मजबूती दी है। यही कारण है कि राजस्थान में सीपीआई और आरएलपी से गठबंधन के तहत उन्हें सीटें दी गई है। ओला ने दावा किया झुंझुनूं समेत शेखावाटी की तीनों सीटों पर भाजपा की हार होगी। उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनावों में भी शेखावाटी को कांग्रेस ने काफी अच्छे परिणाम दिए थे। जो लोकसभा चुनावों में भी जारी रहेंगे। इस मौके पर भाजपा सांसदों के झुंझुनूं के कार्यकाल पर हमला बोलते हुए ओला ने कहा कि पिछले 10 सालों में झुंझुनूं को केंद्र ने क्या दिया या फिर सांसद क्या दिलवा पाए। ऐसे कोई तीन काम भी नहीं बता सके। बात चाहे ब्रॉडगेज की हो या फिर सैनिक स्कूल की। सभी कार्य स्व. शीशराम ओला के समय के स्वीकृत थे। उन्होंने कहा कि हम कॉपर प्रोजेक्ट को फिर से चालू करवाएंगे और लोकसभा क्षेत्र के हर क्षेत्र में पीने और सिंचाई का पानी पहुंचाएंगे।

सुंडा के प्रयासों का सकारात्मक परिणाम आया सामने, आठों विधानसभा के नेता एक साथ आए
कांग्रेस जिलाध्यक्ष दिनेश सुंडा की सकारात्मक सोच के साथ किए गए सकारात्मक प्रयासों के परिणाम भी सकारात्मक आए है। एक बार फिर झुंझुनूं लोकसभा क्षेत्र की आठों विधानसभा सीटों के कांग्रेस नेता एक साथ नजर आए। बुधवार को मौका था झुंझुनूं लोकसभा के प्रत्याशी बृजेंद्र ओला के नामांकन का। इस मौके पर लोकसभा क्षेत्र की सभी आठ विधानसभा क्षेत्रों के विधायक और विधायक प्रत्याशी के अलावा अन्य वरिष्ठ नेता एक साथ आए और सभी की मौजूदगी में बृजेंद्र ओला ने नामांकन दाखिल किया। सुंडा ने बताया कि जिस तरह विधानसभा चुनावों में झुंझुनूं की सात में से पांच सीटों पर कांग्रेस ने विजय हासिल की थी। उसी तरह झुंझुनूं में इस बार बृजेंद्र ओला जीत हासिल करेंगे और कांग्रेस की झोली में फिर से झुंझुनूं की सीट आएगी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस एकजुटता के साथ चुनाव मैदान में भाजपा का ना केवल मुकाबला करेगी। बल्कि शिकस्त भी देगी।

नामांकन रैली में शामिल हुए जिले भर के जनप्रतिनिधि

जिला प्रवक्ता संतोष सैनी ने बताया कि नामांकन में सूरजगढ़ विधायक श्रवण कुमार, मंडावा विधायक रीटा चौधरी, फतेहपुर विधायक हाकम अली, पिलानी विधायक पितराम काला, उदयपुरवाटी विधायक भगवानाराम सैनी, खेतड़ी से पूर्व मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह, पूर्व विधायक दाताराम गुर्जर, प्रधान मनीषा गुर्जर, नवलगढ़ से पूर्व विधायक डॉ. राजकुमार शर्मा, पूर्व विधायक कुंवर करण सिंह दिल्ली, पीसीसी सचिव वीरेंद्र महला, पीसीसी सदस्य रणजीत चंदेलिया, सलीम सिगड़ी, पूर्व जिला प्रमुख डॉ. राजबाला ओला, सुमन रायला, कांग्रेस के पूर्व जिलाध्यक्ष सज्जन मिश्रा, कांग्रेस के पूर्व जिलाध्यक्ष महेंद्र झाझड़िया, झुंझुनूं प्रधान पुष्पा चाहर, मंडावा प्रधान शारदा देवठिया, अलसीसर प्रधान घासीराम पूनियां, चिड़ावा प्रधान इंदिरा डूडी, बुहाना प्रधान हरिकृष्ण यादव, फतेहपुर प्रधान महिपाल नेहरा, पूर्व प्रधान हरपाल राव, निहाल सिंह रणवां, शेरसिंह नेहरा, उमराव डांगी, मदन गुर्जर, झुंझुनूं सभापति नगमा बानो, उप सभापति राकेश झाझड़िया, मंडावा नगर पालिका अध्यक्ष नरेश सोनी, नवलगढ़ पालिका अध्यक्ष शोएब खत्री, विद्या विहार पालिका अध्यक्ष प्रतिनिधि रोहताश रणवां, पिलानी नगर पालिका अध्यक्ष हीरालाल नायक, रामगढ़ नगर पालिका अध्यक्ष दूदाराम, बिसाऊ नगर पालिका अध्यक्ष मुस्ताक खान, पूर्व अध्यक्ष तैयब अली, पूर्व अध्यक्ष सत्यनारायण सैनी, पूर्व उप सभापति वीरेंद्र डारा, कुरड़ाराम धींवा, राजकुमार ढाका, पूर्व बीसूका उपाध्यक्ष खलील बुडाना, यूथ कांग्रेस के प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष सुधींद्र मूंड, यूथ कांग्रेस जिला अध्यक्ष सुनील झाझड़िया, पंचायती राज जिला अध्यक्ष राजकुमार राठी, कांग्रेस ओबीसी प्रकाश के जिलाध्यक्ष लीलाधर सैनी, सेवादल जिलाध्यक्ष हारून लालपुर, एनएसयूआई जिलाध्यक्ष राहुल जाखड़, पंचायत समिति सदस्य अमित ओला, आकांक्षा ओला, ब्लॉक अध्यक्ष सुमेर महला, अजमत अली, गोकुलचंद सैनी, ग्यारसीलाल सैनी, मेहर कटारिया, किरोड़ीमल पायल, यज्ञपाल शर्मा, सुरेश मेघवाल, नवीन खेदड़, जिला कांग्रेस कमेटी के खालिद हुसैन, वीरेंद्र खीचड़, श्रवण सैनी, मातादीन शर्मा, अब्दुल अज़ीज़ कच्छावा, संतोष सैनी, पार्षद ताराचंद सैनी, प्रदीप सैनी, रामनारायण कुमावत, जुल्फिकार, अब्दुल्ला अगवान, साजिद, सफीक, उम्मेद अली, प्रेम कस्वां, युनूस, आजम भाटी, जुबेर, अदनान, मनफूल बिजारणिया सहित समस्त कांग्रेसी पार्षद और हजारों की संख्या में कांग्रेस नेता और कार्यकर्ता नामांकन कार्यक्रम में शामिल हुए।