Jhunjhunu Update
झुंझुनूं का नं. 1 न्यूज़ नेटवर्क

कार में जिंदा कौन जला!! ग्रामीण बोले-पुलिस जल्द करे खुलासा

डूंडलोद में कार में जिंदा जले शख्स से जुड़ा मामला, ग्रामीण और परिजन पहुंचे झुंझुनूं, मिले एसपी से

- Advertisement -

0 80
झुंझुनूं।  मुकुंदगढ़ थाना इलाके के डूंडलोद के पास बलरिया जाने वाले रास्ते के अंडरपास में होली वाले दिन रात को कार में आग लगने से जिंदा जले शख्श को लेकर शनिवार को ग्रामीण झुंझुनूं पहुंचे। उसी दिन से गायब महेश के परिजनों के साथ पहुंचे ग्रामीणों ने एसपी राजर्षि राज वर्मा से मुलाकात की और इस मामले का जल्द से जल्द राजफाश करने की मांग की।
ग्रामीणों के साथ आए एडवोकेट अनिल कुमार ने बताया कि घटना के दिन तो कार में विकास भास्कर जिंदा जला। यह मानकर पूरी जांच की जा रही थी और विकास भास्कर के परिजनों ने अंतिम संस्कार तक कर दिया। लेकिन उसी दिन से विकास भास्कर के साथ अंतिम बार देखा गया महेश मेघवाल गायब है। ग्रामीणों ने तीन दिन पहले ही शक जताया था कि कार में विकास भास्कर नहीं, बल्कि महेश मेघवाल था। जो जिंदा जल गया है। एसपी राजर्षि राज वर्मा ने ग्रामीणों को आश्वस्त किया कि जल्द से जल्द मामले का खुलासा किया जाएगा। इधर, एसपी राजर्षि राज वर्मा ने बताया कि पहले विकास भास्कर के परिजनों के डीएनए सैंपल लेकर भिजवाए गए थे। लेकिन महेश के परिजनों के दावे के बाद अब महेश के परिजनों के सैंपल भी ले लिए है।
कार में मौजूद जो भी व्यक्ति था। उसकी बॉडी पूरी तरह से जल गई थी। ऐसे में बॉडी किसकी थी। उसका पता सिर्फ डीएनए जांच से होगा। डीएनए जांच रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है। वहीं पुलिस अलग—अलग बिंदुओं को आधार मानकर लगातार जांच कर रही है। इधर, घटना के कुछ देर पहले का सीसीटीवी वीडियो भी सामने आया है। जिसमें विकास भास्कर अकेला ही डूंडलोद की एक दुकान में सामान खरीदने आया और सामान खरीदकर अकेला ही चला गया।
भीम सेना पदाधिकारियों ने दी आंदोलन की चेतावनी
डूंडलोद के लापता युवक महेश के परिजन शनिवार को भीम सेना पदाधिकारियों तथा डूंडलोद के ग्रामीणों के साथ जाकर झुंझुनूं में पुलिस अधीक्षक राजर्षि राज वर्मा से मिले। एसपी से मिलकर ज्ञापन सौंपा। जिसमें 24 तारीख की रात को गाड़ी के साथ जले व्यक्ति के बारे में 7 दिवस में निष्पक्ष जांच के साथ खुलासा करने की मांग की गई है। ज्ञापन में सीसीटीवी फुटेज में 24 तारीख की शाम 5 बजे महेश माहिच विकास फौजी की गाड़ी में बैठता हुआ नजर आ रहा है और उसके बाद आज तक लापता है। महेश के साथ अनहोनी की आशंका है। भीम सेना के एडवोकेट अनिल तिड़दिया के नेतृत्व में सौंपे गए ज्ञापन में 7 दिवस के भीतर न्याय नहीं मिलने की स्थिति में प्रदेशभर में उग्र आंदोलन की भी चेतावनी दी गई है।

 

यह रहे मौजूद

ज्ञापन देने वालों में भीम सेना के राष्ट्रीय महासचिव राजेश जोया, एडवोकेट रविंद्र कड़वासरा, राजपाल बेनीवाल, मनोज शर्मा, सुरेश बेरवाल, एडवोकेट विजय चाहिल, रजनीश महरिया, डूंडलोद सरपंच हरफूलसिंह पूनियां, लापता महेश की पत्नी सोनिया, सचिन सैनी, जितेंद्र माहिच, नरेश माहिच, फतेहचंद, विक्की, पिंटू, दीपक, सुभाषचंद्र, विकास किलानिया, विक्रम, मदन, रवि कुमार, सुगना, भागोती देवी, नाथी देवी, बिदामी देवी, मीरा देवी, सुवटी देवी, संगीता माहिच सहित बड़ी संख्या में लोग शामिल रहे।