Jhunjhunu Update
झुंझुनूं का नं. 1 न्यूज़ नेटवर्क

पीने के पानी को लेकर महिलाओं ने मटके फोड़ कर दिखाया आक्रोश

उदयपुरवाटी क्षेत्र में कुंभाराम परियोजना के तहत घर-घर पानी पहुंचाने की मांग

- Advertisement -

0 95

झुंझुनूं। उदयपुरवाटी जल संघर्ष समिति के तत्वावधान में चौफूल्या चंवरा में होली की राम श्यामा के साथ साथ कुंभाराम लिफ्ट पेयजल योजना को लेकर जबरदस्त विरोध प्रदर्शन लगातार जारी रहा। इस दौरान चंवरा के लोगों ने बताया कि हमारे यहां पानी आते आते लाइन रास्ते में बंद हो गई। टैंकर से प्राप्त पानी भयंकर फ्लोराइड युक्त किसी काम का नहीं है। इसलिए खेतड़ी की तर्ज पर कुंभाराम लिफ्ट योजना का पानी हमारे क्षेत्र को भी मिलना चाहिए। इसके लिए कई दर्जनों ग्रामवासियों शुद्ध पेयजल को लेकर जबरदस्त प्रदर्शन किया। पत्थर में से जो पानी आ रहा है।

उससे लोगों में तरह तरह की बीमारियां बढ़ती जा रही है। इस दौरान जल संघर्ष समिति अध्यक्ष नत्थूराम सहित अन्य लोगों ने भी प्रदर्शनकारियों को संबोधित किया। उपस्थित जनसमुदाय ने विशेष कर महिलाओं ने पानी की टंकी के पास आक्रोशित होकर सभी ने एक साथ मटके फोड़कर जबरदस्त धमाकेदार प्रदर्शन किया व एक स्वर में कहा कि हमें किसी भी स्थिति में खेतड़ी की तरह कुंभाराम लिफ्ट नहर का पानी जल्द से जल्द मिलना चाहिए। अन्यथा चुनावों में मतदान नहीं करने जाएंगे। संघर्ष समिति अध्यक्ष नत्थुराम ने बताया कि उदयपुरवाटी के पहाड़ी बेल्ट में शुद्ध पेयजल की उपलब्धता नहीं के बराबर है। जल संघर्ष समिति संयोजक केके सैनी ने कहा कि शुद्ध पेयजल उदयपुरवाटी की जरूरत है।

कुंभाराम लिफ्ट योजना के पेयजल लेकर रहेंगे। संघर्ष समिति चुनावों की अधिसूचना की गाइडलाइंस को ध्यान में रखते हुए मांगे पूरी नहीं होने तक हमारा आंदोलन, दिन दूणा रात चौगुना जारी रहेगा। संघर्ष समिति होली की राम श्यामा करते हुए रात्रि चौपाल के माध्यम से भी लोगों को जाग्रत कर रही है। चंवरा में झल्डया चौपड़ाली तक पेयजल लाइन डलवाने व टंकी की जर्जर पाइप लाइन को ठीक करवाने की भी मांग की। इस दौरान बिदामीदेवी, सुंदरीदेवी, रेखादेवी, प्रभातीदेवी, संतोषीदेवी, मनीषादेवी, धोलीदेवी, मुन्नीदेवी, सरोज, कोमल, अनिता, संतरा, नींबूदेवी, मीरा, भींवाराम, तेजाराम, हर्षाराम, मोहन, रोहिताश आदि दर्जनों ग्रामवासियों की उपस्थिति में लोगों ने जबरदस्त प्रदर्शन कर कुंभाराम लिफ्ट योजना का शुद्ध पेयजल योजना को चालू करने की पुरज़ोर मांग की।