Jhunjhunu Update
झुंझुनूं का नं. 1 न्यूज़ नेटवर्क

कुम्हार के घर से मिट्टी लाकर नवविवाहिताओं ने बनाई गणगौर, अब घर-घर में गूंजने लगे हैं गीत

डीजे के साथ कुम्हार के घर से लेकर आईं मिट्‌टी

- Advertisement -

0 46

उदयपुरवाटी। कस्बे में शीतलाष्टमी के अवसर पर नवविवाहिताओं ने कुम्हार के घर से मिट्टी अपने घर ले जाकर बड़ी गणगौर तैयार की है। सोमवार को पुरानी सब्जी मंडी में कजोड़मल कुमावत की दुकान से दर्जनों नवविवाहिताओं ने मिट्टी ले जाकर बड़ी गणगौर तैयार की है। आजकल गीतों के साथ में डीजे के साथ में कुम्हार के घर से मिट्टी ले जाने का प्रचलन बढ़ता जा रहा है। नवविवाहिताएं होली के साथ ही गणगौर की पूजा शुरू करती है। प्रतिदिन सुबह गणगौर की पूजा अर्चना करती है। सोलह दिन के पर्व में शीतलाष्टमी के दिन मिट्टी की गणगौर तैयार करके उनके बान-बंदौरे निकालने का दौर शुरू हो जाता है। नवविवाहिताओं के साथ में युवतियां 16 दिन तक गणगौर का पूजन करती है। सोलह दिन बाद में गणगौर की सवारी निकलने के साथ ही गणगौर का कुआ व बावड़ी में वित्सर्जन करते हैं। इसके साथ ही नवविवाहिताओं का 16 दिवसीय गणगौर पर्व का समापन हो जाता है।

खिरोड़ में गूंजने लगे गणगौर के गीत

खिरोड़ में गणगौर का पूजन करतीं महिलाएं।

खिरोड़ कस्बे सहित आस—पास के गांवों में गणगौर के घर-घर बंदौर निकाले जाने लगे हैं। गांवों में सुबह से ही नवविवाहिताओं एवं बालिकाओं द्वारा गणगौर के गीत गाए जाने लगे हैं। जो देर शाम तक जारी रहते हैं। इन दिनों जिधर देखो उधर गणगौर के गीतों की गूंज सुनाई देती है। नव विवाहिताओं एवं बालिकाओं द्वारा गीतों के माध्यम से कभी गणगौर को पानी पिलाया जाता है। तो कभी पूजा अर्चना की जाती है। इन दोनों घर-घर जाकर गणगौर के बंदौरे भी निकाले जाने लगे हैं। सुबह से ही काफी संख्या में नव विवाहिताओं एवं बालिकाओं के अलग-अलग समूह दिखाई देने लगते हैं और चारों तरफ गीतों की गूंज सुनाई देने लगती है।

बागोरा के शीतला माता मेले में उमड़े हजारों श्रद्धालु

बागोरा शीतला माता मेले में कुंड में पूजा करते श्रद्धालु।

उदयपुरवाटी। शीतला अष्टमी पर निकटवर्ती ग्राम बागोरा में स्थित प्राचीन शीतला माता के मंदिर में रविवार-सोमवार की मध्य रात्रि से लाखों श्रद्धालुओं ने ठंडे पकवान चढ़ाकर पूजा अर्चना की। गृहिणियों ने माता के कंडवारें भरे व कुम्हार के घर पर कहानी सुनी। शीतला माता के धोक व जात-जडूला लगाने वालों का शाम तक तांता लगा रहा। मेले में लगाई गई अस्थाई दुकानों पर भी अच्छी खासी आवक हुई। झूले, सर्कस, आइसक्रीम, पेय पदार्थों एवं मेला परिसर में श्रीकृष्णा भजन पार्टी गायक मुकेश गुर्जर द्वारा भजनों की प्रस्तुतियां दी। जहां हर उम्र के लोगों ने लुत्फ लिया। भीड़ का नियंत्रण करने के लिए बल्लियां लगाई गई। मंदिर कमेटी, पुलिस प्रशासन की ओर से अवांछित घटनाओं पर अंकुश लगाने के लिए सीआई गोपाललाल के निर्देशन में मेला कमेटी की ओर से सीसीटीवी कैमरे लगाकर अवांछित घटनाओं पर निगरानी रखने का प्रयास किया। जिसके बावजूद भी दर्जनों महिलाओं के गले से मादलिया व सोने की चैन तोड़ने में चोर कामयाब रहे। पुलिस ने एक महिला को हिरासत में भी लिया। मंदिर के पास बने प्राचीन सरोवर में श्रद्धालुओं ने हाथ पैर धोकर कष्ट दूर होने की प्रार्थना की। अल सुबह से ही महिलाएं मंगल गीत गाती हुई परिवार के साथ मंदिर पहुंची।