Jhunjhunu Update
झुंझुनूं का नं. 1 न्यूज़ नेटवर्क

खेत का रास्ता बंद कर देने से परेशान किसान ने फंदा लगाकर दी जान, सुसाइड नाेट में लिखा-मेरी कहीं सुनवाई नहीं हो रही

सूरजगढ़ थाना इलाके के घरड़ू की ढाणी का मामला, थानाधिकारी के नाम लिखी मिली अर्जी

- Advertisement -

0 24
बलबीर (48) पुत्र लालचंद जाट

सूरजगढ़ । थाना इलाके के घरड़ू की ढाणी निवासी एक किसान ने खेत का रास्ता बंद कर देने से परेशान होकर फंदा लगा अात्महत्या कर ली। उसके पास से दाे पेज का सुसाइड नाेट मिला है। जिसमेंं उसने नाै जनाें पर अात्महत्या के लिए मजबूर करने का अाराेप लगाते हुए कहा है कि उसकी कहीं पर भी सुनवाई नहीं हो रही। विधायक पर भी अाराेपियाें का पक्ष लेने की बात लिखी है। पुलिस के मुताबिक घरड़ू की ढाणी निवासी बलबीर (48) पुत्र लालचंद जाट ने शाम को घर में पशुओं के चारे के लिए बनाए गए बाड़े में टीनशेड से फंदा लगाकर जान दे दी। परिजनों की सूचना पर मौके पर पहुंचे थानाधिकारी सुखदेव सिंह ने शव काे नीचे उतरवाकर अस्पताल पहुंचाया। मृतक की जेब से सूरजगढ़ थानाधिकारी के नाम लिखी दो पेज की अर्जी मिली है। इसी अर्जी के दूसरे पेज पर सुसाइड नाेट लिखा हुआ है।

इस संबंध में उसके बेटे आशीष ने रिपोर्ट दी है कि खेत की जमीन को लेकर कई साल से पड़ोसियों के साथ उनका विवाद चल रहा है। पड़ोसी वीरसिंह पुत्र श्योचंद, राजकुमार व कर्मवीर पुत्र होशियार सिंह ने खेत में जाने वाले रास्ते को बंद कर दिया। उनके शामलाती कुएं का वीरसिंह, राजकुमार व कर्मवीर ने वायर काट दिया। उसके पिता ने वायर को ठीक करवाने के लिए लोरिंग मशीन बुलवाई तो वीरसिंह ने उसे खेत के अंदर नहीं जाने दिया। जिससे 2-3 दिनों तक पीने का पानी नहीं भर सके। इस पर उसके पिता बलबीर ने वीर सिंह, राजकुमार व कर्मवीर द्वारा दिए गए तनाव के कारण फंदा लगाकर जान दे दी। आशीष ने रिपोर्ट में लिखा है कि राजकुमार ने पहले भी उसके व उसके भाई मनीष पर बोलेरो कैंपर चढ़ा दी थी। 6-7 साल पहले कर्मवीर के बेटे संदीप ने उनके घर पर चोरी की थी। पुलिस ने मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों के सुपुर्द कर दिया।

बलबीर ने सुसाइड नोट में पत्नी व बच्चों से माफी मांगते हुए नौ जनों को जिम्मेदार ठहराया
बलबीर की जेब में मिले सुसाइड नोट में पत्नी व बच्चों से माफी मांगते हुए आत्महत्या के लिए पड़ोसी वीरसिंह, राजकुमार, कर्मवीर, हितेश, विकास, संदीप, सुनील, प्रदीप, कुलदीप, चाचा श्योचंद व होशियार सिंह के बेटे पोतों को जिम्मेदार ठहराया है। सुसाइड नोट में लिखा है कि उक्त लोगों ने उसके खेत का रास्ता बंद कर दिया है और पीने के पानी के कुएं का वायर काट दिया। कुएं का वायर ठीक कराने के लिए लोरिंग मशीन को खेत में नहीं जाने दिया। उसकी कहीं सुनवाई नहीं हो रही है। सुसाइड नोट थानाधिकारी सूरजगढ़ के नाम लिखा है जिसपर दिनांक 11 मई 2024 लिखी हुई है।

बेटे ने कराया 13 जनाें के खिलाफ अात्महत्या के लिए मजबूर करने का मामला
सूरजगढ़ थानाधिकारी सुखदेव सिंह ने बताया कि बलबीर के बेटे आशीष ने मामला दर्ज करवाया है। जिसमें पडोसी वीर सिंह, कर्मवीर, राजकुमार, हितेश विकास, संदीप, सुनील, प्रदीप, कुलदीप, चाचा श्योचंद व होशियार सिंह पर परेशान कर अात्महत्या के लिए बाध्य करने का आराेप लगाया है। बलबीर खेती करता था और उसके तीन बेटे हैं। इनमें बड़ा बेटा मनीष नेवी में है। छोटा बेटा हरीश ट्रांसपोर्ट का काम करता है। वहीं सबसे छोटा बेटा आशीष घर पर रहता है।